Wednesday, January 04, 2012

वार्षिक संगीतमाला 2011 पॉयदान संख्या 24 : आख़िर 'कतिया करूँ' का मतलब क्या है?

अपनी 'शबाना'को तो मना लिया ना आपने तो चलिए थोड़ा चरखा कात कर आते हैं। क्या कहा ये गाँधी जयन्ती नहीं नए साल का शुभारंभ है। अजी तो मैंने कब कहा कि कुछ और है। पर कल्पना कीजिए कि ये चरखा आपका दिल हो और सूत के रूप आपके मन की भावनाएँ जो किसी की यादों में रची बसी हों तो भला आपको सारी रात प्रेम की चादर बुनने में कितना मज़ा आएगा। इरशाद क़ामिल को भी जरूर आया होगा तभी तो उन्होंने रॉकस्टार के लिए गीत लिखा सारी रात कतिया करूँ। 

वैसे इम्तियाज को मैंने इस गीत के बारे में बताते हुए सुना कि पंजाब में लोग इस जुमले को कुछ यूँ गाते हैं किसी की साइकिल, किसी की मोपेड, सड्डी सुजुकी तू मैं सारी रात कतिया करूँ...:)।इरशाद और मुझे ये जँच गया और हमने फ़ैसला लिया कि इसी जुमले को लेकर क्यूँ ना गीत बनाया जाए।


इस गीत को गाया है हर्षदीप कौर ने। ये वही हर्षदीप हैं जिन्होंने NDTV Imagine के कार्यक्रम जुनूँ कुछ कर दिखाने में राहत की टीम में रहते हुए सूफ़ी गायिकी की कमान थामी थी और फाइनल में लोकगीत गायिका मालिनी अवस्थी को पछाड़ कर 2008 में खिताब जीता था। श्वेता परांदे को दिए साक्षात्कार में हर्षदीप इस गीत की कहानी कुछ यूँ बताती हैं..

"रहमान सर ने एक दिन मुझे पोवइ के स्टूडियो में बुलाया और गीत के बोल पकड़ाते हुए पूछा कि ये कतिया करूँ क्या है ? मैंने उन्हें इसका मतलब समझाते हुए कहा कि इसका मतलब है कि मैं सारी रात तुम्हारी  रूई से सूत कातूँगी। बस तुम मेरे दिल रूपी चरखे की चकरी बन जाओ। मैं तुम्हारे लिए ही जियूँगी और मरूँगी। रहमान सर ने कहा मैं एक ऐसी धुन बनाना चाहता हूँ जो लोगों का तुरंत ध्यान खींचे क्यूँकि गीत की परिस्थिति में नायक नायिका दोनों मस्ती के मूड में हैं। और रहमान ने आनन फानन में यह धुन तैयार कर दी।"

चाहे वो गीत के मुखड़े में टिग लिंग लिंग के साथ की पंजाबी बीट्स हों या बीच के खूबसूरत इंटरल्यूड्स, रहमान अपने संगीत से जो मस्ती पैदा करते हैं वही इस गीत की कर्णप्रियता को बढ़ाता है। तो आइए एक बार फिर सुनें इस नग्मे को


टिंग लिंग लिंग लिंग
लिंग लिंग लिंग लिंग
कतिया करूँ, कतिया करूँ
तेरा रूँ कतिया करूँ
तेरा रूँ, तेरा रूँ,तेरा रूँ
रूँ रूँ रूँ
सारी रातें कतिया करूँ
कतिया करूँ, कतिया करूँ

सारा दिन सोचाँ विंच लँगदा
तेरे नइ हुण जियति मरूँ
एह तन मेरा चरखा होवे
होवे उलफत यार दी चंगा रु...

नचदी फिरूँ, टपदी फिरुँ
कीली मैं नपदी फिरूँ
हद करूँ, हद करूँ, हद करूँ
रूँ रूँ रूँ
यारा बुल्ले लुटिया करूँ
लुटिया करूँ, लुटिया करूँ
मैंनू डर हुण
नइयो जग दा,
तेरे नइ हुण जियति मरूँ, कट्टा रूँ..

फिल्म रॉकस्टार के इस गीत को फिल्माया गया है रणबीर कपूर और नरगिस फाख़री पर...
Related Posts with Thumbnails

7 comments:

suparna said...

bahut badhiya laga yeh gaana mujhe bhi, haala ki 'katiya karoon' ka matlab kaafi dinon baad online pata chala.

i think i got to love the song because of the interludes and the way it ends :) aur harshdeep ki aawaz to bahut acchi lagti hai hi.

नीरज गोस्वामी on January 04, 2012 said...

Good song..great picturization...

mrityunjay kumar rai on January 04, 2012 said...

बहुत सुंदर गाना . दरअसल आपकी गीत माला में गानों से जुडी दी गई जानकारी पढना ज्यादा अच्छा लगता है . वैसे आपना गानों का चयन बेमिसाल है . आपको सलाम

प्रवीण पाण्डेय on January 04, 2012 said...

गानों का विस्तृत व विशद वर्णन।

Abhishek Ojha on January 05, 2012 said...

बहुत पीछे है, मैं तो इसके काफी ऊपर आने की सोच रहा था.

Manish Kumar on January 05, 2012 said...

सुपर्णा : जानकर अच्छा लगा कि तुम्हें भी ये गीत पसंद है।
नीरज जी : सही कहा आपने।
मृत्युंजय, प्रवीण : शुक्रिया !
अभिषेक : इसीलिए तो कहा है कि पूरे गीत सुनने के बाद अपना १ तो १० बताना

कंचन सिंह चौहान on January 05, 2012 said...

हाँ हाँ ये गीत सौम्या ने न्यू ईयर पर चलाया था... डांस के लिये...!!

 

मेरी पसंदीदा किताबें...

सुवर्णलता
Freedom at Midnight
Aapka Bunti
Madhushala
कसप Kasap
Great Expectations
उर्दू की आख़िरी किताब
Shatranj Ke Khiladi
Bakul Katha
Raag Darbari
English, August: An Indian Story
Five Point Someone: What Not to Do at IIT
Mitro Marjani
Jharokhe
Mailaa Aanchal
Mrs Craddock
Mahabhoj
मुझे चाँद चाहिए Mujhe Chand Chahiye
Lolita
The Pakistani Bride: A Novel


Manish Kumar's favorite books »

स्पष्टीकरण

इस चिट्ठे का उद्देश्य अच्छे संगीत और साहित्य एवम्र उनसे जुड़े कुछ पहलुओं को अपने नज़रिए से विश्लेषित कर संगीत प्रेमी पाठकों तक पहुँचाना और लोकप्रिय बनाना है। इसी हेतु चिट्ठे पर संगीत और चित्रों का प्रयोग हुआ है। अगर इस अव्यवसायिक चिट्ठे पर प्रकाशित चित्र, संगीत या अन्य किसी सामग्री से कॉपीराइट का उल्लंघन होता है तो कृपया सूचित करें। आपकी सूचना पर त्वरित कार्यवाही की जाएगी।

एक शाम मेरे नाम Copyright © 2009 Designed by Bie